Sunday, June 28, 2009

इश्क ने गालिब निकम्मा कर दिया,वर्ना हम भी आदमी थे काम के!!

ये विडियो मुझे भाटिया सर के ब्लौग पे मिला। एक मज़ेदार विडियो है पर शायद सिर्फ़ इसका मज़ा लेकर देख लेना भर ठीक नही,इसमे चार युवाओं के जिस बर्ताव को दिखाया गया है,वो या तो नैतिक रूप से गलत है या फ़िर गैर ज़िम्मेदार है,मूर्ख चाहे जो हो,सही तो कोई नही। दुखद बात ये है की,ऐसी घटनायें सचमुच आम है। सिगरेट और शराब की तरह कयी लड़को का भविष्य लड़कियों के हाथों भी शहीद होता है।इनमे हर मामले मे युवा अपनी बेवकूफ़ी का खामियाज़ा भुगतते है,पर तीसरे पहलू को कभी गँभीरता से नही लिया गया,जबकी नशा-मुक्ति हमारा एक खास मकसद है आज। मेरे एक मित्र का तकियाकलाम है - प्यार मे आदमी कुत्ता बन जाता है... प्यार मे तो नही,प्यार की गलतफ़हमी मे पड़के इंसान कुत्तेपन के करीब ज़रूर आ जाता है। आप लोगो को शायद लगे की मैं एक छोटी सी बात को अधिक तवज्जो दे रहा हूँ,तो अगर आप अब भी इस बात से सहमत नही हुये है कि ये बात उतनी छोटी और गैर-ज़रूरी नही है जैसी लगती है,तो आप शायद मेरी बात से सहमत कभी ना हो।और अगर आपको मेरी बात मे कोई गंभीरता,कोई तुक नज़र आता हो,तो आपके विचारों का मुझे इंतज़ार है। नोट: मेरे ये विचार काल्पनिक नही है,कयी लोगो के जीवन से इसकी समानता हो सकती है,शायद उसमे मेरा भी जीवन हो!!

7 comments:

राज भाटिय़ा said...

अरे बहुत काम की बात लिखी आप ने, बस मेरा मकसद पुरा हो गया, मै यही संदेश देना चहाता था कि हमे बिन देखे बिन सोचे ऎसी मुर्खता नही करनी चाहिये, कई लडके या लडकिया तो एक तरफ़ा प्यार मै नाकामयब हो कर बहुत से गलत कदम भी ऊठा लेते है.
धन्यवाद

डॉ. मनोज मिश्र said...

sahee hai .

AlbelaKhatri.com said...

adbhut video
adbhut aalekh
saarthak post !

Udan Tashtari said...

हमें तो आपकी बात गंभीर ही लगी..विचारणीय!

Pyaasa Sajal said...

achha laga aap logo ne is baat par vichaar kiya...
Raj Sir,aapki koshish bilkul sahi disha me thi
Albela Ji..aapka swagat hai is blog par...aate rahiyega

‘नज़र’ said...

सही बात है।

---
चर्चा । Discuss INDIA

PD said...

are.. ye video to mere bhi orkut profile me laga hua hai.. :)